ग्रामीण ख़बर / लाॅकडाउन मे नमाज़े ईद कहाॅ और कैसे

Islam Khan

2020-05-23 16:11:54pm IST

बूंदी :- हिलाल कमेटी सरपरस्त मौलाना निजामुद्दीन शहर क़ाज़ी बूँदी, ने कहा कि कोरोना महामारी की वजह से हमारा देश पिछले दो माह से लाॅकडाउन  मे गुजर रहा है,और इस लाॅकडाउन मे केन्द्र सरकार हुक़ूमत हिन्द की तरफ से अनेक पाबंदियां की गई है जिन की पालना पुरे देशवासियों के साथ साथ मुसलमान भी खुदा के फज्ल से करते आ रहें हैं। उन्होंने ऐलान में यह बताया की इन ही पाबंदियों मे हर नमाज़ मे पांच पांच नमाज़ियों की हाजरी लाज्मी करार दी गई है,अब ईदुल फित्र की नमाज़ भी इसी तादाद में हाजरी के साथ अदा की जाऐगी । और ईदुल फित्र के दिन मुसलमान पांच पांच नमाज़ियों की तादात में ईदगाहो मस्जिदों और घरो मे नमाज़ अदा करें और शर्त यह है की जिन को इमाम बनाया जाऐ वह इमामत के अहल हो और इमामत की शराईत पुरी करते हो अगर ना अहल के पिछे नमाज़ अदा की गई तो नमाज़ नहीं होगी । *इस विशेष बातों पर रखें मुस्लिम समुदाय के लोग ध्यान* जी हां आपको बता दें की याद रहे की जहाँ भी ईद की नमाज़ अदा की जाऐ उस मुकाम के मेन गेट की अन्दर से कुन्दी खुली हो ,अगर नमाज़ के वक़्त अन्दर से कुन्दी लगा दी गई तो नमाज़ नही होगी, और नमाजे ईद के बाद अगर किसी वजह से खुत्बा ना पढा जा सके तब भी नमाज़े ईद अदा हो जाऐगी। और साथ ही आपको बता दें की अगर किसी को ईद की नमाज़ बा जमाअत अदा करने का मौका ना मिल सके तो वह चार राकत नमाज़ चाशत घर पर अदा करें। ऐसे माहौल मे उन पर नमाज़े ईद छोडने का कोई गुनाह नही होगा अल्लाह ताला इस महामारी कोरोना वायरस को पुरे देश और पुरी दुनिया से दूर फरमाए आमीन ।

LIKE - 0    VIEWS - 52    COMMENT - 0    SHARE - 0