• अपराध
  • राजस्थान
  • जोधपुर
  • हिस्ट्रीशीटर विकास हत्याकांड : विवाहित बहन को भगाने का बदला लेने के लिए भाई और भतीजे ने हिस्ट्रीशीटर को गोलीयां से भुना

अपराध / हिस्ट्रीशीटर विकास हत्याकांड : विवाहित बहन को भगाने का बदला लेने के लिए भाई और भतीजे ने हिस्ट्रीशीटर को गोलीयां से भुना

Suresh Kumar Bishnoi

2020-05-23 10:19:49am IST

जोधपुर : मंडोर थाना इलाके के नयापुरा में 17 मई दिनदहाड़े हिस्ट्रीशीटर विकास रुड़कली की गोली मारकर हत्या करने के पांच आरोपियों को शुक्रवार को जोधपुर कमिश्नर रेट पुलिस ने गिरफ्तार कर हत्या का पर्दाफाश कर लिया। डीसीपी धर्मेंद्रसिंह ने बताया कि हिस्ट्रीशीटर विकास पंवार रुड़कली की हत्या के आरोपियों में जूनकी ढाणी रावर पुलिस थाना बिलाड़ा निवासी बुधाराम पुत्र कोजाराम विश्नोई, हत्या की साजिश रचने वाला बनाड़ थाना इलाके के जालेली फौजदारान निवासी भभूताराम पुत्र भेंपाराम विश्नोई व रैकी करने वाले राइका बेरा, मगरा पूंजला निवासी विक्रम पुत्र मदनसिंह माली व गुरु राजाराम नगर, परिहार नगर के पीछे रहने वाले हेमसिंह पुत्र खेताराम माली और हत्या में हथियार देने वाले हनुमानगढ़ जिले के टिब्बी निवासी पंकज पुत्र रामसिंह को गिरफ्तार कर पुछताछ की जा रही है। वह शेष आरोपीयों को पकड़ने के लिए गठीत टीमे दबिश दे रही है। मामले के अनुसार डांगियावास थाना इलाके के रुड़कली निवासी हिस्ट्रीशीटर विकास पंवार पुत्र बीरमाराम विश्नोई तीन माह पहले बिलाड़ा थाने के बाला गांव से एक शादीशुदा महिला निरमा को अपनी प्रेमिका बता भगा लाया था। जिसके बाद से वो मंडोर थाना इलाके के नयापुरा में एक किराए के मकान में विवाहिता के साथ लव इन रिलेशनशिप में रहने लगा था। लाॅकडाऊन 3.0 में 17 मई की दोपहर विकास सिल्वर ऑक गार्डन के पास सरस्वती फ्रूट एवं सब्जी की दुकान पर सब्जी एवं फ्रुट लेने पंहुचा। तभी दो अलग-अलग बाइक पर राजूराम, हनुमानराम व विकास आए और हिस्ट्रीशीटर विकास पंवार की दुकान से खिंच सड़क पर ला पिस्तौल से गोलीयां मार दिनदहाड़े हत्या कर फरार हो गए थे। यह था मामला - हिस्ट्रीशीटर के साथ लव इन रिलेशनशिप में रह रही विवाहिता निरमा का पति सरवन तीन महिने पहले जब एनडीपीएस मामले में पकड़ा गया था तो उसी दिन हिस्ट्रीशीटर विकास पंवार बिलाड़ा थाने के बाला से विवाहिता निरमा व उनके बच्चो को भगा ले गया था। इसको लेकर लगातार हिस्ट्रीशीटर को निरमा के पीहर रावर और ससुराल पक्ष बाला से फोन पर बदला लेने की बार बार धमकियां मिल रही थीं। इधर, लॉकडाउन के चलते विकास ने अपना ठिकाना बदल मोबाइल स्विच ऑफ कर मंडोर के नयापुरा में रहने लग गया। जहां उसकी 17 मई को हत्या कर दी गई थी। रैकी के लिए दो जनों को पीछे लगाया- निरमा के भुआ के बेटे भाई जालेली फौजदारान निवासी भभूताराम विश्नोई ने हिस्ट्रीशीटर विकास की रैकी करने के लिए हेमसिंह व विक्रम को पीछे लगाया था। वारदात से दो दिन पहले उसी इलाके की एक मेडिकल की दुकान पर हिस्ट्रीशीटर को देखा गया था और वहीं से उसका पीछा करना शुरु कर दिया था।

LIKE - 2    VIEWS - 1290    COMMENT - 0    SHARE - 0