• राजनीति
  • राजस्थान
  • अलवर
  • मंत्री टीकाराम जूली उद्योगों के प्रबंधन प्रतिनिधि एवं मानव संसाधन प्रबंधको की समस्याओं से हुए अगवत

राजनीति / मंत्री टीकाराम जूली उद्योगों के प्रबंधन प्रतिनिधि एवं मानव संसाधन प्रबंधको की समस्याओं से हुए अगवत

Lokesh Bhardwaj

2020-05-22 14:04:48pm IST

श्रम, कारखाना एवं बॉयलर निरीक्षण विभाग, सहकारिता एवं इंदिरा गांधी नहर परियोजना मंत्री टीकाराम जूली अलवर जाते समय नीमराणा औद्योगिक क्षेत्र के उद्योगों के प्रबंधन प्रतिनिधि एवं मानव संसाधन प्रबंधको से बातचीत कर उद्योग के सामने आ रही समस्याओं से अवगत हुए। उद्योगों का नेतृत्व करते हुए नीमराणा इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के महासचिव कृष्ण गोपाल कौशिक ने कहा कि हमारे उद्योगों के सामने मुख्यतः श्रमिकों की कमी को लेकर परेशानी झेलनी पड़ रही है, क्योंकि अधिकतर प्रवासी श्रमिक थे। जिनके जाने के बाद एवं कुछ यहां औद्योगिक क्षेत्र में रह रहे श्रमिकों से बातचीत कर समझाइश करते हुए उन्हें सभी सुविधाएं मुहैया कराने का आश्वासन देकर यहीं रुकने और उद्योग में कार्य करने का आग्रह कर रहे हैं। कुछ प्रवासी श्रमिकों से बातचीत की जा रही है जो कि अपने गांव को निकल चुके हैं उन्हें वापस आने के लिए कहा जा रहा है। टीकाराम जूली ने उद्योगों की समस्याओं को सुनने के बाद कहा कि राजस्थान सरकार उद्योगों के साथ हमेशा कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है। फिर भी अप्रवासी श्रमिकों को कार्य करने का अवसर प्रदान किया जाए। उन श्रमिकों को वरीयता एवं कार्यकुशलता के आधार पर नियुक्ति देकर कार्य करवाएं। साथ ही राज्य सरकार अकुशल श्रमिकों के लिए जिला रोजगार कार्यालय के साथ कौशल विकास को लेकर चर्चा कर रही है इसके अंतर्गत उन श्रमिकों को प्रशिक्षण के माध्यम से एक कुशल श्रमिक बनने की योग्यता प्रदान की जाएगी। श्रमिक विभाग अपने अधिकारियों से निरंतर वार्ता कर उद्योगों की आवश्यकताओं के अनुसार कार्य कुशल श्रमिकों के नियोजन हेतु प्रयासरत है। साथ ही उन्होंने नियोजक एवं श्रमिकों से आग्रह करते हुए कहा कि वे आपसी सामंजस्य बनाए रखें और अपनी हर प्रकार कि समस्याओं में तालमेल रखकर उत्पादन प्रक्रिया को शीर्ष तक पहुंचाएं ताकि इस संकट काल के दौरान हम ही हमेशा की तरह अच्छे परिणामों को प्राप्त करें। जिससे देश के आर्थिक एवं सामाजिक विकास को एक संबल प्रदान हो सके। इसके लिए सरकार को भी उद्योगपतियों एवं श्रमिकों से सहयोग की आवश्यकता है। आशा है की जल्द ही हम उद्योगों को पुनः पहले कर रहे उत्पादन की पटरी पर ले आएंगे। इस दौरान वहां निहोन पैकेजिंग के मानव संसाधन प्रबंधक मनीष कौशिक, रुकमणी इंडस्ट्रीज के प्रबंध निदेशक एनआरआई अभिलाष कौशिक, ग्रैबको पैकेजिंग एलएलपी के निदेशक अनिल शर्मा, हीरो मोटोकॉर्प के मानव संसाधन प्रबंधक जितेंद्र सिंह, रिचलाइट बिस्किट के मानव संसाधन प्रबंधक संदीप जांगिड़ एवं अभिषेक शर्मा, सैडेन विकास प्रिसिजन से मनीष कुमार, एचएनवी कास्टिंग के मानव संसाधन जगबीर सिंह, नेक्सर फ्लोटर के मानव संसाधन प्रबंधक राजेश खींची, इंडस्ट्रियल एक्सपर्ट सॉल्यूशन से विकास कुमावत सहित अन्य प्रबंधन प्रतिनिधि मौजूद थे।

LIKE - 1    VIEWS - 234    COMMENT - 0    SHARE - 0