समाज / राज्य सरकार के आदेशों और कोरोना के कानून की धज्जियां उड़ा रहे हैं शिक्षक

Satyamev admin

2020-05-22 01:12:06pm IST

राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय नांगल खोडिया में नियुक्त शिक्षिका संगीता यादव को विधवा होने के बावजूद कोरोना में ड्यूटी देनी पड़ रही है। इसके अलावा रेड जोन से आने वाली सीकर झुंझुनू की महिला अध्यापिका ने भी कोरोना के विशेष कार्यक्रम में नांगल खोडिया गांव में अपनी ड्यूटी देना मजबूरी बताई हैं। यह सब शिक्षा विभाग के पढ़े लिखे प्राचार्य के नेतृत्व में हो रहा है, बहरोड़ शिक्षा जगत को मिले निदेशालय के लिखित निर्देशों की सरेआम धज्जियां उड़ा दी गई। राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल नांगल खोडिया को मिले शिक्षा निदेशालय के पत्र क्रमांक शिविरा माध्यमिक B2 विविध 4418/ 68 -363 दिनांक 6 मई के आदेश में स्पष्ट निर्देश दिया गया है कि वेतन आहरण एवं कोविड-19 से संबंधित ड्यूटी के लिए विभिन्न स्तरों पर किस तरह से ड्यूटिया लगानी है, स्पष्ट निर्देश देते हुए निदेशक माध्यमिक शिक्षा बीकानेर के आदेश में कहा है कि वर्तमान में आवागमन हेतु निषिद्ध क्षेत्रों तथा रेड जोन में रह रहे कार्मिकों के मुख्यालय पर उपस्थिति के संबंध में आवागमन हेतु सफलता प्राप्त होने तक के लिए उन्हें शीथतलन प्रदान किया जाएगा। इसी प्रकार दिव्यांग असाध्य रोग से ग्रसित कार्मिक विधवा परित्यक्ता एकल महिला एवं जिन कर्मचारियों को 2 वर्ष से कम आयु की संतान है या जिनके सेवा निवृत्ति में मात्र 2 वर्ष अधिशेष हैं उन्हें ड्यूटी में सिथिलयन प्रदान किया जाता है। इसी प्रकार वर्तमान में चल रहे रमजान को देखते हुए रोजा रखने वाले कर्मचारियों को भी ड्यूटी से यथासंभव मुक्त रखा गया , इस शीतलन की श्रेणियों में लोक डाउन की अवधि में मुख्यालय के बाहर रह रहे कार्मिकों को प्राथमिकता से ड्यूटी पर लगाया जाएगा। समस्त मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी जिला प्रशासन से समन्वय करते हुए कोविड-19 की ड्यूटी हेतु पर्याप्त कार्मिकों की उपलब्धता सुनिश्चित करेंगे। शेष कार्मिकों की आवश्यकता होने पर दूरभाष पर निर्देश मुख्यालय उपस्थित होने के लिए कर्मी को पाबंद करेंगे। आदेशांक 363 सौरभ स्वामी निदेशक, माध्यमिक शिक्षा एवं प्रारंभिक शिक्षा राजस्थान के इस आदेश की धज्जियां उन्हीं के महकमे के नांगल खोडिया प्रिंसिपल यशवंत सिंह ने जमकर उड़ाई हैं। कोविड-19 की विशेष ड्यूटी नांगल खोडिया ग्राम पंचायत के राजीव सेवा केंद्र पर करने के लिए रेड जोन की शिक्षिकाओं के अलावा इस विधवा को देखकर मीडिया के रिपोर्टर्स ने मौके पर कर्मचारियों से उनकी मजबूरियां जानी और धज्जियां उड़ाने के लिए प्रशासनिक अमले को सूचनाओं से पाबंद किया। इस घटना के बाद उपखंड कार्यालय बहरोड़ में इस तरह के मामलों में विशेष निगरानी रखी जा रही है।

LIKE - 0    VIEWS - 0    COMMENT - 0    SHARE - 0