सांस्कृतिक / 10 दिवसीय श्री रामानुज जयंती महोत्सव आज रघुनाथ धाम रामानुज आश्रम में हुआ संपन्न

Satyamev admin

2020-04-28 03:53:21pm IST

 

जयपुर के रघुनाथ धाम रामानुज आश्रम पचार पीठ में पीठाधीश्वर स्वामी सौरभ राघवेंद्र आचार्य महाराज के सानिध्य में वैशाख कृष्ण द्वादशी तदनुसार सोमवार 19 अप्रैल 2020 से 28 अप्रैल 2020 तक 10 दिवसीय जगतगुरु श्रीरामानुजाचार्य तिरुनक्षत्र जयंती प्राकट्य महोत्सव आज संपन्न हुआ। पीठाधीश्वर स्वामी राघवेंद्र आचार्य महाराज ने बताया रघुनाथ धाम रामानुज आश्रम पचार पीठ में पिछले 10 दिन से नियमित रूप से प्रतिदिन वैदिक विधि से पूजन, तुलसी अर्चना पाठ वाल्मीकि रामायण पाठ, श्री सूक्त पाठ, कनकधारा स्त्रोत, श्री लक्ष्मी सूक्त,प्रतिदिन शरणागति गद्य,, श्रीरंग गद्य, श्री बैकुंठ गद्य पाठ, सायं स्त्रोत्र रत्न तथा यतीराजविनशती, रामानुज प्रपत्ति, इत्यादि स्रोतों के पाठ किए गए। 

स्वामी सौरभ राघवेंद्र आचार्य महाराज ने उनकी जयंती पर प्रकाश डालते हुए बताया कि रामानुजाचार्य जी 120 वर्ष की अवस्था हो जाने के पश्चात उन्होंने भगवान श्री रंगनाथ से देह त्यागने की अनुमति ली थी । जय श्री राम और वह 1137 ईसवी में वह ब्रह्मलीन हो गए थे। किंतु रामानुजाचार्य जी संसार में एक अकेले ऐसे संत हैं जिनका शरीर आज भी मम्मी यानी मूल शरीर के रूप में  मंदिर में विराजमान है और उनकी मूर्त रूप में पूजा होती है नित्य चंदन का लेप किया जाता है। आज भी यह मूल शरीर 1000 वर्ष पश्चात भी एकदम सही अवस्था में है नित्य इसकी पूजा-अर्चना होती।

वैशाख शुक्ल पंचमी तदनुसार 28 अप्रैल 2020 को रामानुज जयंती के दिन 10 दिवसीय समारोह का समापन करते हुए रामानुज संप्रदाय से दीक्षित आचार्य स्वामी सौरभ राघवेंद्र आचार्य महाराज ने रामानुजाचार्य जी महाराज पर की जीवनी पर प्रकाश डाला। पीठाधीश्वर स्वामी सौरभ राघवेंद्र आचार्य महाराज के द्वारा रामानुज जयंती पर इस वर्ष लोक डाउन होने की वजह रामानुज संप्रदाय के श्रद्धालुओं को अपील करी कि आप घर बैठकर ही पूजा अर्चना करें अभी मंदिर में नहीं पधारे। अंत में विद्वान आचार्य पंडित आकाश शर्मा, पंडित लोकेश शर्मा,पंडित अर्जुन शर्मा एवं संजीव भारद्वाज सहित विद्वानों ने स्वामी सौरव राघवेंद्र आचार्य महाराज के सानिध्य में हवन पूर्णाहुति करके 10 दिवसीय महोत्सव को विश्राम दिया।

LIKE - 0    VIEWS - 20    COMMENT - 0    SHARE - 0